बच्चों से लेकर हर बड़ा-बुढ़ा इंसान गूगल का दिवाना है। गूगल ना हो तो लोग आज-कल जीना ही छोड़ देंगे। अपनी रोज़ की ज़िंदगी में लोग गूगल को ऐसे फ्री में जब चाहे तब यूज़ कर रहे हैं। अगर कभी कुछ समझ ना आए तो लोग किसी और से राय नहीं बल्कि गूगल से राय लेते हैं।
गूगल कंपनी अपने यूजर्स को सर्विसेस फ्री में देती है, लेकिन फिर भी दुनिया की टॉप रेवेन्यु कमाने वाली कंपनियों में से एक है। क्या आप जानते हैं कि गूगल अपने यूजर्स को फ्री सर्विस देने के बाद भी करोड़ों कैसे कमा लेती है? हम जिन सेवाओं को मुफ्त समझते हैं, गूगल उन्हीं के बल पर कहीं और से कमाई करती है। अन्य कंपनियां हमारे बारे में जानकारियां गूगल से खरीदती हैं या उसे अपने विज्ञापनों के लिए पैसा देती हैं। विज्ञापन पर हर क्लिक के लिए गूगल चंद सेंट से लेकर सैकड़ों डॉलर तक वसूल करती है।
techaunty.com आपको बताती है कि सिर्फ एक मिनट में कितना कमाती है गूगल:
Gizmodo Australia वेबसाइट के मुताबिक, साल 2014 में हर मिनट गूगल 149,288 डॉलर (लगभग- 99 लाख रुपए) का रेवेन्यू जनरेट करती है। जिसमें से प्रॉफिट 23509 डॉलर (लगभग 15 लाख रुपए) है।
विज्ञापन से होती है 97 प्रतिशत कमाई: रिपोर्ट के अनुसार 2015 की Q2 (दूसरी तिमाही) में गूगल की कुल कमाई 17.3 बिलियन डॉलर (लगभग 109284.1 करोड़ रुपए) थी। इसमें से 97 प्रतिशत सिर्फ विज्ञापनों से आया था। गूगल की एडवर्टाइजिंग स्ट्रैटजी में कीवर्ड्स के हिसाब से भी पैसे कमाए जाते हैं। wordstream.com के आर्टिकल के हिसाब से 20 सबसे एक्सपेंसिव कीवर्ड्स में से पहला इन्श्योरेंस (insurance) है। इसके बाद लोन (loan) कीवर्ड दूसरे नंबर पर है। (ये आंकड़े बदलते भी रहते हैं।)